देश

क्या राजस्थान की सत्ता की कुर्सी में बैठेंगे बाबा बालकनाथ?

छत्तीसगढ़ उजाला नई दिल्ली●

राज्य की जनता सीएम के तौर पर वसुंधरा राजे से ज्यादा बाबा बालकनाथ को देखना पसंद कर रही हैं। अलवर जिले के तिजारा सीट से बाबा बालकनाथ  ने कांग्रेस प्रत्याशी इमरान खान को करारी शिकस्त दी है।बाबा बालकनाथ का राजस्थान में एक अलग ही स्थान है।कांग्रेस की सरकार में राजस्थान में मुस्लिमो को विशेष सुविधाएं दी जाती रही है।कही न कही इस बात का असर राजस्थान की राजनीति में नजर भी आता था।चुनावी खेल में बाबा बालकनाथ का बड़ा बयान आता भी रहा है।हिंदुओ के पक्ष में बाबा बालकनाथ हमेशा सामने आकर बयान देते रहे।

चुनाव जीतने के बाद उन्होंने कई बातें भी कही।उन्होंने जीत पर खुशी जाहिर करते हुए कहा,”यह सीट हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं और तिजारा के लोगों ने जीती है। उन्होंने मुझे अपनी सेवा करने का सौभाग्य दिया है। सभी निर्णय पीएम मोदी के मार्गदर्शन में लिए गए हैं।”

अब सारा काम प्रधानमंत्री मोदी के मार्ग दर्शन में चलेगा: बाबा बालकनाथ

इसके बाद जब उनसे सीएम बनने को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, हमारे मुख्यमंत्री, हमारे प्रधानमंत्री सबकुछ पीएम मोदी हैं। सब उनके मार्ग दर्शन में चलेगा।

बता दें कि चुनाव प्रचार के दौरान बाबा बालकनाथ ने कहा था कि राजस्थान में भाजपा की सरकार बनने के बाद गुंडों और बदमाशों के खिलाफ बुलडोजर चलेगा। इस बात पर उन्होंने हंसते हुए कहा,”तीन तारीख के बाद कोई नजर नहीं आएगा।”

इन दिग्गज नेताओं ने सीएम पद के लिए भरा हुंकार

राजस्थान विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत से सरकार बना रही भाजपा में अब मुख्यमंत्री पद के दावेदारों को लेकर कशमकश शुरू हो गई है। भाजपा में मुख्यमंत्री पद के सबसे प्रमुख दावेदारों में पूर्व सीएम वसुंधरा राजे और केंद्रीय विधि मंत्री अर्जुन राम मेघवाल हैं।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के समर्थक भी उन्हे सीएम बनाना चाहते हैं। हालांकि बिरला ने अपना रूख फिलहाल समर्थकों के बीच भी स्पष्ट नहीं किया है। प्रदेशाध्यक्ष सी.पी.जोशी भी सीएम पद के दावेदार हैं। इनमें दो बार पूर्व में सीएम रही वसुंधरा प्रदेश के नेताओं में सबसे लोकप्रिय है।

Anil Mishara

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button