देश

पहली राजकीय यात्रा के लिए पीएम मोदी अमेरिका रवाना हुए, कई गुना बढ़ेगी भारत की ताकत

Latest National News : नई दिल्ली . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका की पहली राजकीय यात्रा पर रवाना हो गए हैं। रवानगी से पहले उन्होंने इस बारे में ट्वीट किया। पीएम न्यूयॉर्क और वाशिंगटन डीसी में कई कार्यक्रमों में भाग लेंगे। वह यूएन मुख्यालय में योग दिवस समारोह में भी शामिल होंगे। इसके अलावा अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ डिनर और अमेरिकी संसद को संबोधित भी करेंगे। इधर, भारी तपिश के बीच मानसून ने बिहार-झारखंड के लोगों को राहत दी है। मानसून की एंट्री इन दोनों राज्यों में हो चुकी है।

पीएम मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) और यूएस की फर्स्ट लेडी जिल बाइडेन (Jill Biden) के न्योते पर अमेरिका गए हैं. उनकी इस विजिट की खास बात यह है कि वह दूसरी बार अमेरिकी कांग्रेस की संयुक्त बैठक को संबोधित करने वाले पहले भारतीय पीएम होंगे.

प्रधानमंत्री का यह पहला आधिकारिक यूएस दौरा है. हालांकि, इससे पहले वह लगभग छह बार अमेरिका का द्विपक्षीय और आधिकारिक दौरा कर चुके हैं. पीएम मोदी यहां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम में शामिल होंगे तो वहीं व्हाइट हाउस में आयोजित किए गए रात्रिभोज का भी लुत्फ उठाएंगे.

कई गुना बढ़ेगी भारत की ताकत

पीएम मोदी के इस दौरे में भारत-अमेरिका के बीच भारत को सुपरपावर बनाने वाली अब तक की सबसे बड़ी डिफेंस डील होने वाली है. 21 जून से पीएम मोदी के अमेरिकी दौर पर ये डील फाइनल होगी, जिससे भारत की ताकत कई गुना बढ़ जाएगी. पीएम मोदी के इस दौरे से पहले अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन भारत आए और उन्होंने पीएम मोदी से मुलाकात की. जेक सुलिवन को इस मेगा डिफेंस डील का सूत्रधार माना जाता है. उनके साथ मिलकर भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने इस साल जनवरी के बाद जबरदस्त काम किया.

भारत में जीई-414 जेट इंजन का निर्माण

चीन का मुकाबला करने के लिए भारत को अपने लड़ाकू विमानों की तादाद तेजी से बढ़ाने की जरूरत है. इस वक्त तेजस मार्क-2 के लिए नए इंजन की जरूरत थी. पीएम मोदी के अमेरिकी दौरे में GE F414 Engine का निर्माण भारत में होने पर मुहर लग जाएगी. इससे जेट इंजन भारत में बनने लगेगा. इसके लिए अमेरिका टेक्नोलॉजी ट्रांसफर पर सहमत हो गया है.

अमेरिकी प्रीडेटर ड्रोन भारत को ट्रांसफर

अमेरिका का बेहद खतरनाक ड्रोन 1200 किलोमीटर तक मार करने की क्षमता रखता है. तालिबान और ISIS के खिलाफ अमेरिका ने इन ड्रोन्स के जरिए अचूक हमले किए. भारत को अपनी लंबी समुद्री सीमा और थल सीमा की निगरानी के लिए भी इस ड्रोन की खास जरूरत थी. लिहाजा रक्षा मंत्रालय ने अमेरिका से इस खरीदारी को हरी झंडी दे दी. वहीं पीएम मोदी के दौरे पर इसे अंतिम रूप दिया जा सकता है.

कार्यक्रम का शेड्यूल

21 जून

पीएम मोदी न्यूयॉर्क में स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में 9वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस समारोह का नेतृत्व करेंगे. इस समारोह में इंटरनेशनल सिंगर मैरी मिलबेन भी शामिल होंगी. योग दिवस पर इस कार्यक्रम में 180 देशों के प्रतिनिधि शामिल होंगे. इस दिन अमेरिका भविष्य के लिए कौशल विकास पर एक कार्यक्रम भी होगा.

22 जून

जो बाइडेन और जिल बाइडेन 21 तोपों की सलामी के बीच प्रधानमंत्री का स्वागत करेंगे. ऐतिहासिक यात्रा के दौरान वॉसिंगटन डीसी में स्थित व्हाइट हाउस के दक्षिणी लॉन में एक भव्य स्वागत समारोह होगा. इस स्थान पर ही रात के समय राजकीय रात्रिभोज होगा. जिसकी मेजबानी जो बाइडेन और उनकी पत्नी करेंगी. 7000 से ज्यादा भारतीय अमेरिकी इसमें शामिल हो सकते हैं.

प्रधानमंत्री अमेरिकी कांग्रेस की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगे. उन्हें यूएस कांग्रेस के नेताओं ने आमंत्रित किया है, जिसमें प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष केविन मैकार्थी और सीनेट के नेता चार्ल्स शूमर शामिल रहेंगे.

23 जून

उप राष्ट्रपति कमला हैरिस और विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन राज्य विभाग के फोगी बॉटम मुख्यालय में पीएम मोदी के साथ दोपहर का भोजन करेंगे.

भारतीय मूल के लोग रोनाल्ड रीगन बिल्डिंग में प्रधानमंत्री के लिए रात्रिभोज का आयोजन करेंगे. प्रधानमंत्री प्रमुख सीईओ, पेशेवरों और अन्य हितधारकों के साथ कई क्यूरेटेड इंटरैक्शन का कार्यक्रम में शामिल होंगे.

24-25 जून

पीएम मोदी 24 जून को संयुक्त राज्य अमेरिका से प्रस्थान करेंगे और 24-25 जून को मिस्र की राजकीय यात्रा पर काहिरा पहुंचेंगे. यह निमंत्रण जनवरी 2023 में भारत के गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सिसी ने दिया था, जहां वह मुख्य अतिथि थे.

Anil Mishara

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button