मध्यप्रदेश जनसंपर्क

Gaurav Yatra : 5 स्थान से आरंभ होगी वीरांगना रानी दुर्गावती गौरव यात्रा

भोपाल, 21 जून। Gaurav Yatra : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि वीरांगना रानी दुर्गावती का बलिदान दिवस 24 जून को है। वे भारत के शौर्य और स्वाभिमान का प्रतीक हैं। राज्य शासन ने वीरांगना के संघर्ष और बलिदान का स्मरण करने तथा उन्हें श्रद्धा-सुमन अर्पित करने के लिए 22 से 27 जून तक 5 स्थान से वीरांगना दुर्गावती गौरव यात्रा निकालने का निर्णय लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 जून को शहडोल में वीरांगना रानी दुर्गावती को श्रद्धा-सुमन अर्पित करेंगे। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 22 जून को बालाघाट से वीरांगना दुर्गावती गौरव यात्रा का शुभारंभ करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि रानी दुर्गावती ने अकबर की फौज का वीरतापूर्वक सामना किया और स्वाभिमान की रक्षा के लिए अपना बलिदान दे दिया। वर्तमान पीढ़ी को उनके संघर्ष से अवगत कराने के लिए यह यात्राएँ निकालने का निर्णय लिया गया है। यात्राएँ बालाघाट, छिंदवाड़ा, सिंगरामपुर (जबेरा-दमोह), रानी दुर्गावती के जन्म स्थान कालिंजर फोर्ट और धोहनी सीधी से आरंभ होंगी। सभी 5 यात्रा का समापन 27 जून को शहडोल में होगा। साथ ही प्रधानमंत्री मोदी सिकल सेल एनीमिया से भारत को मुक्ति दिलाने के लिए राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम लाँच करेंगे और मध्यप्रदेश में एक करोड़ आयुष्मान कार्ड का उनके द्वारा प्रतीक स्वरूप वितरण किया जाएगा। प्रदेश के सभी वार्ड और गाँव कार्यक्रम से वर्चुअली जुड़ेंगे। मुख्यमंत्री चौहान वीरांगना दुर्गावती गौरव यात्रा की तैयारियों की समीक्षा के लिए समत्व भवन में हुई बैठक को संबोधित कर रहे थे। वन मंत्री विजय शाह उपस्थित थे।

गौरव यात्राओं की राज्य स्तर से होगी मॉनीटरिंग

मुख्यमंत्री ने कहा कि पाँचों यात्राओं के मार्गों में पड़ने वालों स्थान पर सभाएँ होंगी। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग तथा नगरीय निकाय, जन-जन को जोड़ने तथा कार्यक्रमों की व्यवस्था करेंगे। सभी यात्राएँ रथ के साथ आरंभ होंगी। यात्रा मार्ग में होने वाली सभाओं में रानी दुर्गावती के चित्र पर माल्यार्पण तथा पुष्पांजलि अर्पित की जाएगी। रानी दुर्गावती के संघर्ष और शौर्य की जानकारी जन-जन को देना इन यात्राओं का उद्देश्य है। सभा स्थल पर वीरांगना के संबंध में चर्चा, सांस्कृतिक कार्यक्रम, लोक-गीत, देशभक्ति गीत आदि होंगे। कार्यक्रम में स्थानीय कलाकार अपनी प्रस्तुतियाँ देंगे। बेहतर व्यवस्था के लिए जिला कलेक्टर, स्थानीय जन-प्रतिनिधियों और अधिकारियों को यात्रा और कार्यक्रम प्रमुख बना कर उन्हें जिम्मेदारी सौंपे। जनजातीय कार्य विभाग गौरव यात्रा का नोडल विभाग होगा, साथ ही जनअभियान परिषद, संस्कृति विभाग और युवा आयोग को भी दायित्व सौंपे गये हैं। गौरव यात्राओं की राज्य स्तर से भी मॉनीटरिंग की जाएगी।

गौरव यात्राओं का कार्यक्रम बालाघाट से शहडोल

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह 22 जून को बालाघाट से आरंभ होने वाली यात्रा का शुभारंभ करेंगे। इस यात्रा के प्रभारी केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते होंगे। यात्रा 22 जून को बैहर में रात्रि विश्राम करेगी, 23 जून को बिछिया होते हुए डिंडोरी में रात्रि विश्राम करेगी, अगला रात्रि विश्राम 24 जून को पुष्पराजगढ़ में होगा, 25 जून को यात्रा अनूपपुर होते हुए जैतपुर पहुँचेगी, जहाँ रात्रि विश्राम होगा। यात्रा का अंतिम पड़ाव 26 जून को शहडोल में होगा।

छिंदवाड़ा से शहडोल

दूसरे मार्ग पर छिंदवाड़ा से यात्रा आरंभ होगी। इसके प्रभारी सांसद दुर्गादास उइके होंगे। छिंदवाड़ा से 22 जून को आरंभ होने वाली यात्रा चौरई पहुँचेगी, सिवनी में रात्रि विश्राम कर 23 जून को केवलारी लखनादौन होते हुए यात्रा मंडला में रात्रि विश्राम करेगी। यात्रा 24 जून को निवास के लिए रवाना होगी तथा शहपुरा में रात्रि विश्राम होगा। यात्रा 25 जून को उमरिया पहुँचेगी और पाली-मानपुर में रात्रि विश्राम करेगी। यात्रा का अंतिम पड़ाव 26 जून को शहडोल में होगा।

सिंगरामपुर (जबेरा/दमोह) से शहडोल

तीसरी यात्रा सिंगरामपुर (जबेरा/दमोह) से आरंभ होगी। जिसके प्रभारी वन मंत्री विजय शाह होंगे। जबेरा से 22 जून को आरंभ होने वाली यात्रा रात्रि विश्राम मझौली पाटन में करेगी। यात्रा 23 जून को सिहोरा शहर, जबलपुर शहर होते हुए बरगी समाधि स्थल पहुँचेगी, जहाँ रात्रि विश्राम होगा। यात्रा 24 जून को कुंडम होते हुए शहपुरा पहुँचेगी, वहाँ रात्रि विश्राम होगा। यहाँ से यात्रा बिरसिंगपुर पाली के लिए रवाना होगी और 25 जून को वहाँ रात्रि विश्राम होगा। यात्रा का अंतिम पड़ाव 26 जून को शहडोल में होगा।

रानी दुर्गावती के जन्म स्थान कलिंजर से शहडोल

रानी दुर्गावती के जन्म स्थान उत्तरप्रदेश के कलिंजर फोर्ट से शहडोल के लिए आरंभ होने वाली यात्रा की प्रभारी पूर्व सांसद श्रीमती सम्पतिया उइके और यात्रा उप प्रभारी राज्य सभा सांसद सुमेर सिंह सोलंकी होंगे। यह यात्रा कलिंजर से 23 जून को दोपहर 12 बजे आरंभ होगी, अजयगढ़ में 23 जून के रात्रि विश्राम के बाद 24 जून को पवई पहुँचेगी तथा 24 जून का रात्रि विश्राम बड़वारा में होगा। यात्रा 25 जून को विजयराघवगढ़ पहुँचेगी और अमरपुर में रात्रि विश्राम करेगी। यात्रा 26 जून को मानपुर पहुँचेगी तथा रात्रि विश्राम शहडोल में होगा।

धौहनी सीधी से शहडोल

पाँचवीं यात्रा धौहनी सीधी से शहडोल के लिए रवाना होगी। यात्रा प्रभारी हिमाद्री सिंह होंगी। यह यात्रा 23 जून को कुसमी, 24 जून को ब्योहारी, 25 जून को जयसिंह नगर और 26 जून को शहडोल में रात्रि विश्राम करेगी।

केन्द्रीय राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, प्रदेश की जनजातीय कार्य मंत्री मीना सिंह, सांसद राकेश सिंह, क्षेत्रीय विधायक, बालाघाट, सिवनी, जबलपुर, छिंदवाड़ा, अनूपपुर, कटनी, दमोह, डिंडोरी, पन्ना, उमरिया, शहडोल, सिंगरौली और सीधी के कलेक्टर तथा अन्य अधिकारी वर्चुअली शामिल हुए।

Anil Mishara

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button