देश

वेदांता एल्यूमिनियम की स्वास्थ्य परियोजनाओं से ओडिशा और छत्तीसगढ़ के 4 लाख लोगों को हुआ लाभ

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर कंपनी ने वंचित समुदायों को उच्च गुणवत्ता की स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने की प्रतिबद्धता दोहराई

●छत्तीसगढ़ उजाला●

विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर भारत के सबसे बड़े एल्यूमिनियम उत्पादक वेदांता एल्यूमिनियम ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2024 में कंपनी ने ओडिशा व छत्तीसगढ़ में सामुदायिक स्वास्थ्य परियोजनाओं के द्वारा लगभग 4 लाख लोगों को लाभ पहुंचाया है। कंपनी उच्च गुणवत्ता की स्वास्थ्य सेवाओं के माध्यम से अपने समुदायों की सेवा कर रही है तथा निवारक स्वास्थ्य सेवाएं अपनाने को प्रोत्साहन दे रही है। इस वर्ष की थीम ’मेरा स्वास्थ्य, मेरा अधिकार’ के अनुसरण में कंपनी लोगों को इस अधिकार के साथ सबको सशक्त बनाने पर जोर दे रही है। दूर-दराज के वंचित इलाकों में उत्तम स्वास्थ्य सेवाएं, शिक्षा व सूचना पहुंचाने में कंपनी की भूमिका महत्वपूर्ण है।

कंपनी ने अपने प्रचालनों में कई पहलें की हैं। ये प्रचालन स्थल हैं: झारसुगुडा, ओडिशा में कंपनी का मेगा एल्यूमिनियम प्लांट, लांजीगढ़ स्थित विश्व स्तरीय एल्यूमिना रिफाइनरी, कोरबा, छत्तीसगढ़ में स्थित भारत की प्रतिष्ठित एल्यूमिनियम उत्पादक व वेदांता एल्यूमिनियम की इकाई बालको तथा वाइज़ैग जनरल कार्गो बर्थ (वीजीसीबी) पोर्ट ऑपरेशंस। झारसुगुडा में कंपनी ने मोबाइल हेल्थकेयर वाहनों के जरिए बड़े अभियान चलाए तथा स्वास्थ्यवर्धक जीवनशैली अपनाने हेतु समाज को जागरुक करने वाले पर्चे तकरीबन 30 गांवों में बांटे। इसके अलावा वेदांता एल्यूमिनियम के सहयोग चल रहे झारसुगुडा डायग्नोस्टिक सेंटर (ओडिशा में सबसे बड़े मल्टी-फैसिलिटी डायग्नोस्टिक सेंटरों में से एक) में ब्रैस्ट कैंसर स्क्रीनिंग कैम्प भी लगाया गया।

लांजीगढ़ में मल्टी-स्पेशलिटी मेगा हेल्थ कैम्प ने मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएं देकर समुदाय को फायदा पहुंचाया। इस कैम्प में शामिल थे- चिकित्सकीय परामर्श, स्क्रीनिंग टेस्ट, दवाएं व टीके। इस कैम्प के जरिए 500 से ज्यादा लोगों को लाभ मिला। इसके अलावा 20 गांवों में स्वास्थ्य एवं हाइजीन की विधियों पर एक हफ्ते की जागरुकता मुहिम चलाई गई जिनसे लगभग 1000 लोगों को फायदा पहुंचा। एक रक्तदान शिविर भी लगाया गया।

कोरबा, छत्तीसगढ़ में कंपनी ने असिस्टिव डिवाइस वितरण अभियान चलाया जिससे अधिक समावेशी एवं सहयोगात्मक समुदाय की रचना की जा सके। इस वितरण अभियान के तहत जरूरतमंद वृद्धों एवं विकलांगों को वॉकिंग स्टिक, ट्राइपॉड, क्रचेस, वॉकर्स और व्हीलचेयर वितरित किए गए। इसके अलावा भदरापारा एवं बेलाकछार में दो मल्टी-स्पेशलिटी मेगा हेल्थ कैम्प आयोजित किए गए जिनसे तकरीबन 500 लोगों को लाभ मिला। इन शिविरों में दंत रोग, त्वचा रोग, हड्डी रोग, स्त्री रोग आदि विशेषज्ञों के साथ ही फिजियोथेरपिस्ट व सामान्य चिकित्सकों ने स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान कीं। मधुमेह एवं रक्तचाप परीक्षण भी किए गए।

वीजीसीबी पोर्ट ऑपरेशंस में दो दिवसीय नेत्र जांच शिविर लगाया गया जिसमें लगभग 400 लोगों की नेत्र जांच हुई और उनके दृष्टि दोष व आंखों की अन्य स्थितियों का पता लगाया गया। जिनकी नजर कमजोर थी उन्हें मुफ्त चश्में दिए गए। इसके अलावा जरूरतरमंद लोगों को बैटरी से चलने वाली व्हील चेयर, ट्राइ साइकल, व्हील चेयर राइडर, कोमोड व्हीलचेयर और ट्राईपॉड वॉक स्टिक आदि की मदद दी गई। इसका उद्देश्य उनकी चलने-फिरने की क्षमता बढ़ाना और उन्हें आत्म निर्भरता देना था।

वेदांता एल्यूमिनियम ओडिशा व छत्तीसगढ़ में अपने प्रचालन स्थलों के भीतर व आसपास के इलाकों में वंचित समुदायों को बुनियादी एवं विशेषीकृत स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराती है। ये पहलें क्षेत्र में मौजूदा स्वास्थ्य संरचनाओं में इजाफा करती हैं:

मोबाइल हेल्थ यूनिटः वेदांता एल्यूमिनियम के प्रचालन स्थलों के आसपास के समुदाय प्रायः ऐसे इलाकों में हैं जहां पहुंचना कठिन है या फिर वे सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रों से बहुत दूर हैं। इन समुदायों के लिए वेदांता एल्यूमिनियम मोबाइल हेल्थ यूनिट संचालित करती है जो पूर्व निर्धारित समयानुसार हर हफ्ते प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं इनके घरों तक पहुंचाती है। इसके अतिरिक्त, निर्बाध रैफरल के लिए चौबीस घंटे एम्बुलेंस सेवाएं चलाई जाती हैं।

वेदांता हॉस्पिटल, लांजीगढ़: वेदांता लिमिटेड लांजीगढ़ ने कालाहांडी के लांजीगढ़ इलाके में साल 2010 में 20 बिस्तरों का एक मल्टी-स्पेशलिटी हॉस्पिटल बनाया जो इस क्षेत्र में अपनी किस्म का पहला अस्पताल था। डॉक्टरों, फिजियोथेरपिस्ट एवं विजिटिंग विशेषज्ञों की कुशल टीम के साथ यह अस्पताल कालाहांडी व रायगडा जिले के आसपास के समुदायों को निवारक एवं उपचारात्मक स्वास्थ्य सुविधाएं निशुल्क मुहैया कराता है। यह अस्पताल वंचित लोगों की सेवा पर बल देता है।

नंद घरः सामान्य आंगनवाड़ी का अत्याधुनिक रूप नंद घर है जो महिला व बाल विकास केन्द्र के तौर पर काम करता है। नंद घर के माध्यम से वेदांता एल्यूमिनियम द्वारा बच्चों, गर्भवती महिलाओं और नई मांओं को उत्तम स्वास्थ्य सेवाएं व समुचित पोषण प्रदान किया जाता है।

वेदांता डायग्नोस्टिक सेंटरः झासुगुडा व लाइकेरा में दो अत्याधुनिक डायग्नोस्टिक सेंटर रेडियोलॉजी एवं पैथोलॉजी सेवाओं की संपूर्ण रेंज उपलब्ध कराते हैं जिनमें एमआरआई व सीटी स्कैनिंग सुविधाएं भी शामिल हैं। ये सेंटर इलाके में स्वास्थ्य सेवाएं व डायग्नोसिस बेहतर बनाने में योगदान दे रहे हैं। ये डायग्नोसिस सेंटर नाम मात्र का शुल्क लेकर सेवाएं देते हैं और केन्द्र सरकार स्वास्थ्य योजना की दरों के अनुसार काम करते हैं।

प्रोजेक्ट आरोग्यः यह प्रोजेक्ट कंपनी के सभी प्रचालनों में एक संपूर्ण स्वास्थ्य पहल है जो उच्च क्वालिटी की प्राथमिक सेवाएं प्रदान करती है जिनमें ग्रामीण स्वास्थ्य पोस्ट के जरिए निवारक एवं उपचारात्मक उपाय शामिल हैं। इस प्रोजेक्ट में जच्चा-बच्चा स्वास्थ्य पर खास जोर दिया जाता है, कुपोषण और खून की कमी से मुकाबले पर विशेष ध्यान दिया जाता है। इसके अलावा, एचआईवी, टीबी और नशे की लत के बारे में जागरुकता अभियान चलाए जाते हैं।

नई किरण मेंस्ट्रुअल हेल्थ प्रोग्रामः छत्तीसगढ़ में कंपनी का नई किरण प्रोजेक्ट मासिक धर्म संबंधी सेहत व हाइजीन के बारे में जागरुकता बढ़ाता है, सैनिटरी उत्पादों के निर्माण हेतु क्षमता तैयार करता है और मेंस्ट्रुअल सेहत के स्थानीय चैम्पियनों को विकसित करता है। यह प्रोजेक्ट मासिक धर्म के विषय पर अब तक 57,000 से अधिक सामुदायिक सदस्यों को जागरुक बना चुका है।

बालको हॉस्पिटलः इस अस्पताल में 120 बिस्तर एवं विशेषज्ञों की कुशल मेडिकल टीम है। यहां पूरी तरह सुसज्जित मॉड्यूलर ओटी, अत्याधुनिक सीटी स्कैन रूम, उन्नत एक्सरे रूम और इमरजेंसी एवं क्रिटिकल केयर यूनिट जैसी अत्याधुनिक सुविधाएं हैं । ये लोगों की स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों को पूरा करते हैं। आईएसओ 9001-2015 से प्रमाणित इस अस्पताल में मजबूत गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली है। इस अस्पताल में साल में 1.8 लाख से ज्यादा लोग इलाज के लिए आते हैं।

बालको मेडिकल सेंटर (बीएमसी): नया रायपुर स्थित 170 बिस्तरों वाला बालको मेडिकल सेंटर (बीएमसी) अत्याधुनिक टर्शियरी केयर कैंसर चिकित्सालय है। यह अस्पताल वेदांता मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन की पहल है जो कि वेदांता रिसोर्सेस व भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) का गैर लाभकारी संगठन है। बीएमसी भारत के कैंसर चिकित्सा के क्षेत्र में में राष्ट्रीय अगुवा के तौर पर उभर रहा है। यहां समग्र मेडिकल, सर्जिकल, रेडिएशन, हीमेटोलॉजिकल, बीएमटी और उपशामक देखभाल सेवाएं प्रदान की जाती हैं।

वेदांता लिमिटेड की इकाई वेदांता एल्यूमिनियम भारत की सबसे बड़ी एल्यूमिनियम उत्पादक है। वित्तीय वर्ष 23 में 22.9 लाख टन उत्पादन के साथ कंपनी ने भारत के कुल एल्यूमिनियम का आधे से ज्यादा हिस्सा उत्पादित किया। यह मूल्य संवर्धित एल्यूमिनियम उत्पादों के मामले में अग्रणी है जिनका उपयोग कई अहम उद्योगों में किया जाता है। वेदांता एल्यूमिनियम को एल्यूमिनियम उद्योग में एस एंड पी ग्लोबल कॉर्पोरेट सस्टेनेबिलिटी असैसमेंट 2023 में पहली वैश्विक रैंकिंग मिली है, यह उपलब्धि कंपनी की सस्टेनेबल विकास प्रक्रियाओं को प्रतिबिम्बित करती है। भारत में अपने विश्वस्तरीय एल्यूमिनियम स्मेल्टर्स और एल्यूमिना रिफाइनरी के साथ कंपनी हरित भविष्य के लिए विभिन्न कार्यों में एल्यूमिनियम के प्रयोग को बढ़ावा देने और इसे ’भविष्य की धातु’ के रूप में पेश करने के अपने मिशन में लगातार आगे बढ़ रही है। www.vedantaaluminium.com

Anil Mishara

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button