छत्तीसगढ

सशस्त्र सेना झण्डा दिवस पर रायपुर हुआ सम्मानित, राज्यपाल ने कलेक्टर को दिया प्रशस्ति पत्र सैनिक कल्याण-पुनर्वास के लिए सर्वाधिक दान एकत्रित करने पर मिला सम्मान

●सशस्त्र सेना झण्डा दिवस पर रायपुर हुआ सम्मानित, राज्यपाल ने कलेक्टर भूरे को दिया प्रशस्ति पत्र●
 
●सैनिक कल्याण-पुनर्वास के लिए सर्वाधिक दान एकत्रित करने पर मिला सम्मान●
●राजभवन में सादे समारोह में हर्ष के साथ मनाया गया सशस्त्र सेना झण्डा दिवस●

रायपुर छत्तीसगढ़ उजाला /सशस्त्र सेना झण्डा दिवस पर आज रायपुर जिले को राज्यपाल श्री बिस्वा भूषण हरिचंदन ने सम्मानित किया। सैनिकों, भूतपूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों के पुनर्वास तथा कल्याणकारी योजनाओं के लिए प्रदेश में सर्वाधिक दान राशि ईकठ्ठा करने के लिए रायपुर जिले को यह सम्मान मिला है। आज राजभवन में आयोजित सादे समारोह में राज्यपाल ने जिले के कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भुरे को प्रशस्ति पत्र देकर इस उपलब्धि के लिए सम्मानित किया। रायपुर जिले ने अथक प्रयास कर सैनिकों, भूतपूर्व सैनिकों, शहीद सैनिकों की विधवाओं और उनके आश्रितों के पुनर्वास तथा कल्याणकारी योजनाओं के लिए 22 लाख रूपये से अधिक की राशि दान के रूप में ईकठ्ठी की है। समारोह में राज्यपाल श्री बिस्वा भूषण हरिचंदन ने सैनिक कल्याण के लिए सभी नागरिकों से अधिक से अधिक सहयोग-दान करने की अपील भी की। इस दौरान गृह विभाग के प्रमुख सचिव श्री मनोज पिंगुआ, राज्यपाल के सचिव श्री अमृत खलखो, गृह विभाग के सचिव श्री अरूणदेव गौतम, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत अग्रवाल, सैनिक कल्याण बोर्ड के संचालक ब्रिगेडियर श्री विवेक शर्मा सहित सेना के अधिकारी भूतपूर्व सैनिक और उनके परिजन भी मौजूद रहे।

कलेक्टर डॉ. भुरे ने कहा कि आज का दिन देश की रक्षा के लिए विषम एवं दुर्गम इलाकों में सेवारत् सैनिकों और वीर शहीदों के परिवार व भूतपूर्व सैनिकों के प्रति सम्मान प्रकट करने का उत्तम अवसर है, उन्होंने सभी नागरिकों से दिल खोलकर सशस्त्र सेना झंडा दिवस निधि में बढ़-चढ़कर योगदान करने की अपील की।

समारोह में राज्यपाल श्री बिस्वा भूषण हरिचंदन ने झण्डा दिवस के अवसर पर 2 लाख रूपए का सहयोग राशि राज्य सैनिक कल्याण बोर्ड को प्रदान किया। समारोह की शुरूआत में शहीद सैनिकों को पुष्पांजलि अर्पित की गई और दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। सशस्त्र सेना झण्डा दिवस का प्रतीक बैज लगाकर श्री हरिचंदन को सम्मानित किया गया। जिला सैनिक अधिकारी कैप्टन अनुराग तिवारी ने राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मु के संदेश का वाचन किया।

सशस्त्र सेना झंडा दिवस की यह राशि घायल सैनिकों के पुनर्वास, शहीद सैनिकों के परिवार को आर्थिक सहायता एवं भूतपूर्व सैनिकों एवं उनके आश्रितों के लिए कल्याणकारी योजनाओं एवं पुनर्वास में उपयोग की जाती है। दान की गई समस्त राशि आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80 के अंतर्गत आयकर से मुक्त होती है। सैनिकों के पुनर्वास और पुनर्निर्माण के लिए दान राशि जिला सैनिक कल्याण कार्यालय शास्त्री चौक, रायपुर में सम्पर्क कर चेक, आरटीजीएस अथवा ड्राफ्ट या बारकोड के द्वारा प्रदान किया जा सकता है।

Anil Mishara

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button