छत्तीसगढ
Trending

*सियासत…..* *मंत्री की शिकायत पहुँची दिल्ली हाईकमान……* *स्वास्थ्य विभाग में चल रहा लेनदेन के साथ सेटिंग का खेला…..* *सौम्या की करीबी अफसर की तगड़ी एंट्री…..*

छत्तीसगढ़ उजाला रायपुर/भोपाल/दिल्ली●

●सियासत

●एक मंत्री की शिकायत पहुँची दिल्ली, मंत्री स्टाफ जनता से करने लगे है बदसलूकी●

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने विधानसभा चुनाव में लोगों से हाथ जोड़कर भाजपा की सरकार बनाने के लिए घुमघुमकर अपील करते थे।हमेशा वो पार्टी के नेताओ व कार्यकर्ताओं को समय समय पर जनता से जुड़े रहने की सलाह भी देते है।वही छत्तीसगढ़ के एक मंत्री अपने अलबेले व्यवहार से चर्चा में है। भाजपा के नए नए नेता मंत्री बनने के बाद आसमान में उड़ना शुरू कर दिए।ऐसा ही एक मामला राजधानी में मंत्री बंगले की अव्यवस्था को लेकर चर्चा में है।मंत्री के स्टाफ जनता से बदसलूकी करने लगे है।


मंत्री बनते ही ऐसी अकड़ की मंत्री बंगले जाने पर लोगों से उनके पीए, ओएसडी और गार्ड तक बदसलूकी करते नजर आ रहे हैं। बात यहां तक नहीं रुकी उनके बंगले में लोगों से धक्कामुक्की गाली गलोच करने की भी चर्चा है। इस तरह का दुर्व्यवहार भाजपा के  कार्यकर्ताओं के साथ भी हो चुका है। इसे लेकर लोगों में काफी आक्रोश पनपने लगा है। भाजपा कार्यकर्ता भी कन्नी काटने लगे हैं। शिकायत को देखते हुए बड़े स्तर पर संगठन के नेताओं में नाराजगी भी सामने आ रही है।  ये वही नेता है जो विधानसभा चुनाव के दौरान जनता के पास वोट मांगते, गिड़गिड़ाते, रोते बिलखते, उनका पैर छूकर आशीर्वाद तक लेते नजर आते थे। लेकिन जिस तरह से मंत्री बनने के बाद रंग बदला इसे लेकर लोग भी हैरान हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह जनता के साथ मिल जुलकर रहने की सलाह देते है वही यह नए नवेले मंत्री अपना नया रंग जनता को दिखाना भी शुरू कर दिए।मंत्रियों के स्टाफ जनता को दुदकारने लगे हैं। मंत्री बंगले में लोगों को बेज्जत करते नजर आ रहे हैं। लेकिन इन्हे समझना होगा कि जनता की लाठी जब आवाज करेगी तो , जिनके भरोसे मंत्री पद तक पहुंचे हैं। आसमान में उड़ने वाले को जमीन पर आते समय नहीं लगेगा।युवा मंत्री की शिकायत दिल्ली हाईकमान तक भी पहुँचने की चर्चा है।

*साय सरकार के कई विभाग में कांग्रेस के भ्रष्टाचार को आखिर कौन बढ़ा रहा आगे*

नई सरकार के कई विभागों में कांग्रेस के भ्रष्टाचार को आखिर कौन आगे बढ़ा रहा है इस बात की चर्चा जोरों पर है। भ्रष्टाचार के मामलो पर साय सरकार को मनन व चिंतन करने की भी आवश्यकता है। चर्चा इस बात की भी है कि प्रदेश सरकार के एक बड़े विभाग में कुछ अधिकारियों द्वारा महिला अधिकारियों से लगातार बदसलूकी की गई थी। एक तरफ सरकार भ्रष्टाचार पर कार्रवाई की बात करती है।वही पूर्ववर्ती सरकार के समय दुर्ग जिले में पदस्थ महिला अफसर पर साय सरकार की मेहरबानी की चर्चा सचिवालय में बनी हुई है।इस महिला आईएएस को राजधानी के बड़े विभाग की जिम्मेदारी दी गयी है।पूर्ववर्ती सरकार की सुपर सीएम सौम्या चौरसिया की बहुत नजदीकी अफसरों में इस महिला अफसर का नाम आता था।कहने वाले यह भी कहते है कि सुपर सीएम के कमीशन का भुगतान ठेकेदार व सप्लायर  इस महिला अफसर के पास ही छोड़ते थे।सरकार को इन अफसरों पर नजरें इनायत करने की आवश्यकता है।सरकार के कई विभाग में जिस तरीके से नीति और अंदरूनी कलह चल रही है। यह साय सरकार के लिए उचित नही है।कई आईएएस अपनी पत्नियों को भी शासकीय पदों पर बैठालकर अच्छी खासी सेलरी के साथ सरकारी सुविधा का उपभोग करवा रहे है।इससे एक बात तो साफ है की सरकार किसी की भी हो अधिकारी अपने मन मुताबिक ही काम करते हैं। लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह भी है कि इन बड़े अधिकारियों को साय सरकार में आखिर शह कौन दे रहा है।

*सीजीएमएससी में भ्रष्टाचारी अधिकारियों को आखिर किसका मिला संरक्षण*

छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेज कॉरपोरेशन यानी सीजीएमएससी के भ्रष्टाचारी अधिकारियों को आखिर किसका संरक्षण मिल गया है। यह बात हम इसलिए कह रहे हैं कि कांग्रेस शासन काल में यहां पर बैठे अधिकारी दवा इक्विपमेंट खरीदी, इंफ्रास्ट्रक्चर टेंडर प्रक्रिया में कई घपले घोटाले किए। नकली दवाई सप्लाई करके लोगो की जान से खिलवाड़ किया जा रहा है।भाजपा सरकार आने के बाद कहा जा रहा था कि ऐसे अधिकारी नपेंगे। कुछ दिन तो यह अधिकारी इस चिंता में थे कि कहीं हम पर कार्रवाई न हो जाए। लेकिन अब इनके हौसले बुलंद है। यह अधिकारी दबी जुबान में यहां तक दावा करने लगे हैं कि हमने विभाग के मुखिया को सेट कर लिया है।

सूत्रों के अनुसार 50 लाख से एक करोड रुपए तक देने की डीलिंग की गई है।राजनैतिक गलियारों में भी यह बात की जा रही है। ताकि इनका तबादला ना हो और यह अपने जगह पर जमें रहे। साथ ही इन्होंने यहां तक कमिटमेंट किया है कि समय-समय पर विभाग के प्रमुख के पास उनका हिस्सा पहुंच जाएगा। यह सब बातें भाजपा सरकार की छवि को धूमिल करती नजर आ रही है।आरोपित व भ्रष्ट अफसरों के चक्कर मे कही भाजपा की लुटिया न डूब जाए।भाजपा के हाईकमान के साथ प्रदेश संगठन को भी यह जानकारी मिल चुकी है।भाजपा के हाईकमान को इन सब मामलों पर विचार करने की जरूरत है।

Anil Mishara

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button