राज्य

पुलिस और ओयो का लखनऊ के होटलों में अनैतिक गतिविधियों को रोकने का संयुक्त अभियान……

पुलिस और ओयो का लखनऊ के होटलों में अनैतिक गतिविधियों को रोकने का संयुक्त अभियान

लखनऊ के होटलों में मानव तस्करी जैसी अनैतिक गतिविधियों पर रोक लगाने के लिए पुलिस और ओयो ने की साझेदारी●

इस पहल के रूप में, पुलिस उन लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई को प्राथमिकता देगी, जो ओयो के ब्रैंड का अवैध रूप से उपयोग कर रहे हैं।उपेन्द्र कुमार अग्रवाल, संयुक्त पुलिस आयुक्त, कानून एवं व्यवस्था, लखनऊ, ने हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के साथ साझेदारी में एक सेमिनार को संबोधित किया, जिसमें अनैतिक गतिविधियों पर रोक लगाने पर चर्चा की गई
उन्होंने कहा कि होटल मालिकों के लिए अपने कर्मचारियों के प्रशिक्षण में निवेश करना और उन्हें होटल परिसर में होने वाले सभी तरह के संभावित अपराधों के बारे में जागरूक करना महत्वपूर्ण है, जिनमें शारीरिक अपराध, संपत्ति से संबंधित अपराध और साइबर अपराध शामिल हैं।


उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि नैतिक निगरानी में शामिल हुए बिना उचित रिकॉर्ड रखना जरूरी है
ओयो द्वारा आयोजित इस सेमिनार में 50 से अधिक ओयो होटल संचालकों ने हिस्सा लिया

05 दिसम्बर, 2023, लखनऊ: पुलिस विभाग ने ओयो के साथ साझेदारी में मानव तस्करी के साथ ही अनैतिक गतिविधियों के खिलाफ अपनी जंग में एक विशेष अभियान की शुरुआत की है। इस पहल के रूप में, पुलिस उन लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई को सर्वोच्च प्राथमिकता देगी, जो ओयो के ब्रैंड का अवैध रूप से उपयोग कर रहे हैं।

ओयो ब्रैंड अपने मेहमानों के लिए सुरक्षित प्रवास सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। यही वजह है कि कंपनी ने इन लखनऊ के होटलों में अनैतिक गतिविधियों के खिलाफ जंग के लिए पुलिस के साथ साझेदारी में एक सेमिनार का आयोजन किया, जिसका उद्देश्य जागरूकता बढ़ाना, हितधारकों को शिक्षित करना और इसके सहयोग के अनुरूप दृष्टिकोण को बढ़ावा देना रहा। इस सेमिनार में शहर के शीर्ष पुलिस अधिकारियों सहित 50 से अधिक ओयो होटल संचालकों की भागीदारी दर्ज की गई। यह पहल अपने पार्टनर होटल्स में किसी भी प्रकार की अनैतिक गतिविधि के खिलाफ ओयो की जीरो टॉलरेंस नीति पर प्रकाश डालती है।

उपेन्द्र कुमार अग्रवाल, संयुक्त पुलिस आयुक्त, कानून एवं व्यवस्था, लखनऊ, सेमिनार में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। उन्होंने सेमिनार को संबोधित करते हुए कहा, “लखनऊ बड़ी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करता है। ऐसे में, हमारे लिए महत्वपूर्ण है कि हम होटलों में उनके लिए एक सुरक्षित वातावरण बनाएँ, जहाँ सभी प्रकार के अपराध, जैसे- शारीरिक अपराध, संपत्ति संबंधित अपराध और साइबर अपराध की लगाम कसी जा सके। इसलिए, होटल मालिकों को चाहिए कि वे होटल कर्मचारियों के उचित प्रशिक्षण में निवेश करें। उन्हें इस प्रकार प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए कि वे संदिग्ध लोगों या गतिविधियों की पहचान कर सकें और पुलिस को रिपोर्ट करने के लिए सशक्त हों।”

 

उन्होंने आगे कहा, “हालाँकि, नैतिक निगरानी में शामिल हुए बिना उचित रिकॉर्ड रखना जरूरी है। इसके अलावा, संबंधित होटल और पड़ोस में सीसीटीवी कैमरा हर समय चालू रहे, होटलों को यह भी सुनिश्चित करने की जरुरत है।”

राजीव डोगरा, वाइस प्रेसिडेंट और रीजनल हेड, उत्तर और पूर्व, ओयो, ने कहा, “लखनऊ में ओयो के 250 से अधिक होटल हैं और इस संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। एक जिम्मेदार हॉस्पिटैलिटी टेक्नोलॉजी कंपनी होने के नाते, हम अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी समझते हैं। पुलिस के साथ यह साझेदारी होटलों में अनैतिक गतिविधियों पर पूरी तरह रोक लगाने और लखनऊ को सभी मेहमानों के लिए एक सुरक्षित स्थान बनाने की दिशा में हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाती है।”

ओयो के पास एक सुदृढ़ सेफ्टी और सिक्योरिटी सिस्टम है, जो यह सुनिश्चित करता है कि उसके प्लेटफॉर्म पर सूचीबद्ध होटल्स को उन सुरक्षा संबंधी कानूनों और दिशानिर्देशों का गहनता से पालन करना होगा, जिन्हें स्थानीय कानून प्रवर्तन एजेंसियों द्वारा जारी किया गया है। यह अपने होटल पार्टनर्स और उनके कर्मचारियों को सेफ्टी और सिक्योरिटी संबंधी नियमित प्रशिक्षण भी प्रदान करता है, ताकि वे मेहमानों से उत्तम व्यवहार करें तथा असामान्य चेक-इन पैटर्न्स जैसी गतिविधियों पर नज़र रखें और उचित कार्रवाई करें।

Anil Mishara

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button