मध्यप्रदेश जनसंपर्क

Grand Monument : मुख्यमंत्री चौहान ग्वालियर में पाल, बघेल और धनगर समाज के सम्मेलन में शामिल हुए

भोपाल, 24 जून। Grand Monument : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हम सब लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर के वंशज हैं। उनके लोक-कल्याण के लिए किये गये कार्यों को कभी भुलाया नहीं जा सकता। ग्वालियर में माँ अहिल्याबाई होल्कर का भव्य स्मारक बनाया जायेगा। बेहटा में बन रहे बस स्टेण्ड का नाम अहिल्याबाई होल्कर के नाम पर रखा जायेगा। साथ ही बघेल और धनगर समाज के कल्याण के लिये प्रदेश में एक बोर्ड गठित किया जायेगा, जिसके अध्यक्ष को केबिनेट मंत्री का दर्जा होगा। लोकमाता अहिल्याबाई के जन्म-दिवस पर ऐच्छिक अवकाश रहेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ग्वालियर के ग्रामीण क्षेत्र बेहटा में शनिवार को पाल, बघेल और धनगर समाज के सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर के चरणों की सौगंध खाकर कहता हूँ कि समाज के कल्याण के लिये कोई कोर-कसर नहीं छोडूंगा। उन्होंने कहा कि पिछड़ी जातियों के हितार्थ कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन से निरंतर कार्य किया जाता रहेगा। बहनों के सशक्तिकरण और उनकी जिंदगी बदलने के लिये मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना का लाभ लाड़ली बहनों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि पढ़ाई के लिये मेधावी छात्रवृत्ति के साथ पाल, बघेल, धनगर समाज के छात्र-छात्राओं को मेडिकल एवं इंजीनियरिंग की शिक्षा के लिये भी सभी सुविधाएँ उपलब्ध कराई जाएंगी। हिंदी भाषा में मेडिकल और इंजीनियरिंग की शिक्षा शुरू होने से गरीब समाज के विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि देवी अहिल्याबाई के सुशासन के कार्यों को देश-दुनिया में याद किया जाता है।

देश देवी अहिल्याबाई होल्कर के न्याय और बलिदान को भुला नहीं पायेगा

केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि हमारे देश में त्याग, तपस्या, बलिदान, न्याय और कर्म की पूजा होती है। देश देवी अहिल्याबाई होल्कर के न्याय और बलिदान को कभी भुला नहीं पाएगा। उन्होंने कहा कि ग्वालियर में बेहटा तिराहे पर माँ अहिल्याबाई की प्रतिमा स्थापित हो जाने से यह तिराहा अब अहिल्या तीर्थ बन गया है। केन्द्रीय कृषि मंत्री तोमर ने कहा कि देवी अहिल्याबाई होल्कर ने काशी विश्वनाथ मंदिर के विकास का भी अनुकरणीय कार्य किया है। बघेल समाज के उत्थान के लिये भी राज्य सरकार अनेक कार्य कर रही है।

माता अहिल्याबाई ने अत्याचारियों के विरूद्ध लड़ाई लड़ी

केन्द्रीय नागरिक उड्डयन एवं इस्पात मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि पाल एवं बघेल समाज के त्याग को देश की 140 करोड़ जनता कभी भूल नहीं पायेगी। उन्होंने अहिल्याबाई होल्कर के जन हित कल्याण के कार्य एवं सेवाओं का उल्लेख कर कहा कि उन्होंने पूरे विश्व को मानव-कल्याण का संदेश दिया। माता अहिल्याबाई ने रणभूमि में नेतृत्व करते हुए अत्याचारियों के विरूद्ध लड़ाई लड़ी। उन्होंने देश में आर्थिक प्रगति और आध्या और शक्ति को विकसित करने का काम किया। देश के विभिन्न स्थानों पर मंदिर और धर्मशालाओं का भी निर्माण कराया। केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने कहा कि पाल, बघेल एवं धनगर समाज से उनका करीबी रिश्ता है। इस समाज से उनके पारिवारिक संबंध रहे हैं। उन्होंने कहा कि राजमाता विजयाराजे सिंधिया एवं कैलाशवासी माधवराव सिंधिया ने भी पाल, बघेल समाज के आध्यात्मिक उत्थान के लिए कार्य किए।

उद्यानिकी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान ने सर्वसमाज को विभिन्न क्षेत्रों में पहचान दिलाने के महत्वपूण कार्य किये हैं। उन्होंने सर्वसमाज के कल्याण, उत्थान और प्रगति के रास्ते खोलने के लिये कई योजनाएँ भी शुरू की हैं। पाल, बघेल और धनगर समाज के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र पाल ने स्वागत भाषण दिया।

मुख्यमंत्री चौहान, केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री तोमर, केन्द्रीय नागरिक उड्डयन एवं इस्पात मंत्री सिंधिया और प्रदेश के उद्यानिकी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह ने बेहटा में लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर नमन किया।

प्रदेश के जल संसाधन मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट, लोक निर्माण राज्य मंत्री सुरेश धाकड़, उद्यानिकी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह, सांसद विवेक नारायण शेजवलकर, बघेल समाज और आयोजन समिति के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र पाल सहित जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्वालियर-चंबल अंचल के समाज बन्धु उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button