छत्तीसगढ जनसंपर्क

बिलासपुर : जिले में खाद-बीज की पर्याप्त उपलब्धता…..

बिलासपुर : जिले में खाद-बीज की पर्याप्त उपलब्धता

बिलासपुर : जिले में खेती-किसानी की तैयारी जोरों पर है। किसानों द्वारा खाद-बीज का अग्रिम उठाव लगातार जारी है। किसानों को जिले की 114 समितियों के माध्यम से खाद-बीज का वितरण किया जा रहा है। इसके साथ ही सहकारी बैंक के शाखा कार्यालयों से ऋण भी उपलब्ध कराया जा रहा है।

वर्ष 2023 में खाद का कुल लक्ष्य 43 हजार 600 मीट्रिक टन है जिसके विरूद्ध समितियों एवं मार्कफेड के डबल लॉक में 30 हजार 357 मीट्रिक टन खाद भंडारित है, जो कि लक्ष्य का 70 प्रतिशत है। वर्ष 2022 में इसी अवधि में 16 हजार 869 मीट्रिक टन समितियों में भंडारित था।

वर्तमान में पूर्व के वर्ष की अपेक्षा 30 प्रतिशत भंडारण ज्यादा हुआ है। इसी प्रकार कृषकों को लक्ष्य के विरुध्द 8 हजार 713 मीट्रिक टन खाद का वितरण किया गया है, जो लक्ष्य का 30 प्रतिशत है। गत वर्ष इसी अवधि में 6 हजार 122 मीट्रिक टन खाद का वितरण किया गया था, जो वर्तमान में पूर्व वर्ष की तुलना में 70 प्रतिशत ज्यादा खाद का वितरण किसानों को किया गया है।

वर्ष 2023 में बीज का कुल लक्ष्य 33 हजार 110 क्विटंल है जिसके विरुध्द समितियों में 20 हजार 263 क्विटंल बीज भंडारित है, जो कि लक्ष्य का 61 प्रतिशत है। वर्ष 2022 में इसी अवधि में 9 हजार 914 क्विंटल समितियों में भंडारित था। वर्तमान में पूर्व वर्ष की अपेक्षा 104 प्रतिशत भंडारण ज्यादा हुआ है।

इसी प्रकार कृषकों को लक्ष्य के विरुध्द 8 हजार 366 क्विंटल बीज का वितरण किया गया है, जो लक्ष्य का 41 प्रतिशत है। गत वर्ष इसी अवधि में 3 हजार 921 क्विंटल बीज का वितरण किया गया था, वर्तमान में गत वर्ष की तुलना में 113 प्रतिशत ज्यादा बीज का वितरण कृषकों को किया गया है।

किसान सहकारी बैंक के शाखा कार्यालय में उपस्थित होकर नगद ऋण भी प्राप्त कर रहे है। ऋण वितरण का लक्ष्य 210 करोड़ है, जिले में सहकारी बैंक की कुल 16 शाखाओं के अंतर्गत 114 समितियों के माध्यम से 30 हजार 629 किसानों द्वारा 116.31 करोड़ राशि का ऋण प्राप्त कर लिया गया है, जो कि लक्ष्य का 55.38 प्रतिशत है। जिले में किसानों को खाद-बीज, वर्मी खाद एवं ऋण लेने में कोई असुविधा नहीं हो रही है।

रानीगांव समिति के किसान राधेश्याम, बोधराम, लक्ष्मीप्रसाद निर्मलकर, सोनबाई, परसराम एवं सेंदरी समिति के किसान धनीराम देवांगन, रमेश कुमार सूर्यवंशी, रामायण कौशिक ने बताया की समिति से खाद बीज प्राप्त करने में किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं आ रही है।

Anil Mishara

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button