30 Nov 2019

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहाँ - ज्वेलरी पर BIS हॉलमार्क होना अनिवार्य

By EditorBusiness

दिल्ली | शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने जानकारी दी है कि अब भारत में सोने की ज्वेलरी और कलाकृतियों के लिए BIS हॉल मार्किंग अनिवार्य की जा रही है.

इसको लेकर केंद्र सरकार 15 जनवरी 2020 को अधिसूचना भी जारी करेगी. अधिसूचना जारी करने के ठीक एक साल बाद यानी 15 जनवरी 2021 से सोने के गहने पर BIS हाल मार्किंग अनिवार्य होगा.

रामविलास पासवान ने बताया कि BIS हॉल मार्किंग अनिवार्य होने के बाद अगर कोई ज्वेलर नियमों की अनदेखी करता है तो उसे एक लाख रुपये का जर्माना और एक साल की सजा हो सकती है. इसके अलावा जुर्माने के तौर पर सोने की वैल्यू का पांच गुना तक जुर्माना चुकाने का प्रावधान भी किया गया है.

सभी ज्वेलर्स को मिलेगा एक साल का मौका- उन्होंने कहा कि ज्वेलर्स को इसके लिए एक साल का वक्त दिया जाएगा. सरकार द्वारा यह कदम इसलिए उठाया गया है क्योंकि ग्राहकों को शुद्ध सोना मिल सके. सरकार द्वारा इस नियम के लागू किए जाने के बाद देश में कहीं भी बिना BIS हॉल मार्किंग के सोने की ज्वेलरी नहीं बेची जा सकेगी.

Tag : ।।

Search News

Subscribe our News

Total Visits

2,102,737