28 Jul 2018

आगामी चुनाव में बिलासपुर जिले की सभी सीटो पर बीजेपी की हालत हुई पतली: युवा व दमदार चेहरे को टिकट देकर बीजेपी अपनी साख बचाने के खेल में।

By EditorPolitical

बिलासपुर | 28जुलाई2018

छत्तीसगढ़ के आगामी विधानसभा को लेकर बीजेपी अपनी चुनावी तैयारी में लग गई है।पार्टी के अपने सर्वे में वर्तमान प्रत्याशियो की हालत बहुत ज्यादा ही ख़राब आ रही है।बिलासपुर जिले की सातो सीट की स्थिति बीजेपी के लिए चिंताजनक है।प्रदेश में बनी नई पार्टी जोगी कांग्रेस से बीजेपी को फायदा होगा ये सोच कर बीजेपी कुछ समय पूर्व निश्चिन्त थी पर तात्कालिक स्थिति में बीजेपी को बड़ा नुकसान होता दिख रहा है।पंद्रह वर्षो से काबिज बीजेपी की हालत प्रदेश में पतली है।तीन पारी की सत्ता से पार्टी कार्यकर्ताओं में निराशा बहुत ज्यादा हावी है।

बिलासपुर जिले के कुछ बड़े बीजेपी नेताओं ने नाम ना छापने की शर्त पर सीजी उजाला को बताया कि पार्टी के किसी कार्यकर्ता का काम नही होता है।सरकार जरूर बीजेपी की है पर काम कांग्रेसियो के बहुत ज्यादा होते है।छोटे से बड़े पार्टी कार्यकर्ता निराश है।ऐसी सरकार किस काम की है।सत्ता में कांग्रेस छोड़कर आये लोग सत्ता का मजा लूट रहे है।साथ ही ये भी बात कही कि जिले में बीजेपी की हालत बहुत ख़राब है।इस बार सत्ता हासिल कर पाना बीजेपी के लिए टेडी खीर साबित होगी।

पार्टी की स्थिति को लेकर आगामी चुनाव में बिल्हा, बेलतरा,तखतपुर, मस्तूरी,कोटा,मरवाही और बिलासपुर से बीजेपी का सुफड़ा साफ होता दिख रहा है।
बिल्हा से पार्टी नये प्रत्याशी के रूप ने शिक्षाविद डॉ अरुण पटनायक या हाउसिंग बोर्ड के चैयरमैन भूपेंद्र सवन्नी को टिकट देकर अपनी स्थिति ठीक कर सकती है।बिल्हा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष धरम लाल कौशिक का क्षेत्र है।पूर्व के चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी ने बिल्हा से बाजी मारी थी।वही तखतपुर से बीजेपी विधायक राजू क्षत्रिय की छवि जनमानस में सही ना होने के कारण पार्टी नये दावेदार को उतारेगी। तखतपुर से युवा कर्मठ समाजसेवी व बीजेपी कार्यकर्ता प्रतीक पांडे को पार्टी प्रत्याशी के रूप में तय कर सकती है।ग्रामीणों के बीच में काफी समय से कार्य करने की वजह से प्रतीक पांडे की जनता की बीच में अच्छी छवि है।प्रतीक पांडे बीजेपी के राष्ट्रीय नेताओ के संपर्क में भी है।युवा चेहरा से बीजेपी को फायदा होगा।इस बात को लेकर पार्टी आश्वस्त भी है।कोटा विधानसभा से बीजेपी युवा चेहरे के रूप में नीरज जैन को अपना प्रत्याशी बना सकती है।नीरज जैन लंबे समय से पार्टी के पदों पर कार्य करते आ रहे है।युवाओ की अच्छी बड़ी टीम के साथ ही हर किसी से प्रत्यक्ष जुड़ाव बनाकर रखना इनकी खूबी है।

बिलासपुर में सीवरेज के लंबे समय से चल रहे प्रोजेक्ट को लेकर अमर अग्रवाल की स्थिति भी बहुत ज्यादा अच्छी नही है।कांग्रेस से मजबूत प्रत्याशी होने की स्थिति में ये भी सीट बीजेपी के हाथ से निकल सकती है।बिलासपुर में कांग्रेस के आपसी झगड़े का फायदा बीजेपी के लिए फायदेमंद जरूर था पर जोगी के अलग पार्टी बनाने से इस बार अंतर्विरोध कम होने की स्थिति में बीजेपी की ये सीट भी हाथ से निकल सकती है।

मरवाही में जोगी परिवार की अच्छी पकड़ है इस बात पर किसी को एतराज नही होगा।छजका की ये सीट जोगी परिवार को मिल सकती है।जोगी का इस क्षेत्र में कोई तोड़ नही है। वही बेलतरा से बीजेपी विजयधर दीवान,प्रफुल्ल शर्मा या राजा पांडे को अपना प्रत्याशी बना सकती है वर्तमान विधायक बद्रीधर दीवान के बेटे विजयधर दीवान को पिता की विरासत का फायदा हो सकता है।।राजा पांडे पूर्व में बिलासपुर जिला अध्यक्ष के रूप में कार्य कर चुके है।इसका फायदा उनको मिल सकता है।वही संघ की और से प्रफुल्ल शर्मा का नाम भी आ सकता है।संघ के अच्छे स्वयंसेवक के रूप में प्रफुल्ल शर्मा लंबे समय से बेलतरा क्षेत्र में कार्य करते आ रहे है।

बीजेपी आगामी चुनाव में कितने प्रत्याशियो को रिपीट करेगी या कितनी जगह नया चेहरा उतारेगी ये तो आने वाले समय में ही पता चलेगा।पर ये तो तय है कि आगामी चुनाव बड़ा दिलचस्प रहेगा।

Tag :

Search News

Subscribe our News

Total Visits

2,034,937